List of ports in india

List of ports in india
भारत के प्रमुख बंदरगाह
मुंबई बंदरगाह
यह एक प्राकृतिक बंदरगाह है जो मुंबई में स्थित है. इसे भारत का प्रवेश द्वार कहा जाता है. यह बंदरगाह अरब सागर में सालसेठ द्वीप के पास 200 वर्ग किमी में फैला हुआ है. यह अन्य बंदरगाहों की अपेक्षा अधिक विस्तृत है. इस बंदरगाह की क्षमता लगभग 200 टन से अधिक है. भारत का सर्वाधिक व्यापार इसी बंदरगाह से होता है. इस बंदरगाह में पेट्रोलियम, रसायन, रासायनिक खाद, नमक, मशीनें तथा कागज इत्यादि वस्तुओं का आयात होता है.


मर्मागोवा बंदरगाह
यह गोवा राज्य में अरब सागर के तट पर स्थित  प्राकृतिक बंदरगाह हैं. गोवा का लौह अयस्क मैंगनीज, मछलियों, नारियल इसी बंदरगाह से निर्यात किया जाता है एवं उर्वरक,रसायन, काच के सामान आयत किए जाते हैं.

न्यू मंगलौर बंदरगाह
न्यू मंगलौर बंदरगाह कर्नाटक राज्य के समुद्र तट पर स्थित है. यह देश के प्रमुख बड़े बंदरगाहों में एक है. इस बंदरगाह से कद्रमुख की खान से निकला लौह अयस्क निर्यात किया जाता है. अन्य निर्यातक वस्तुओं में कहवा, मैंगनीज,काजू, चाय, इमारती लकड़ी  इत्यादि हैं एवं प्रमुख आयतित वस्तुओं में रासायनिक उर्वरक, लुग्धी, खाद्यान्न एवं सूत शामिल हैं.

कोच्चि बंदरगाह
यह केरल राज्य में स्थित एक प्राकृतिक बंदरगाह है जिसमें बड़े जहाज भी ठहर सकते हैं. कोच्चि बंदरगाह भारत के पश्चिमी तट का सर्वश्रेष्ठ बंदरगाह माना गया है. यहां से निर्यात की जाने वाली वस्तुओं में काजू, चाय, गर्म मसाला,इलायची, नारियल, मछली आदि शामिल हैं. इस बंदरगाह में गेहूं, सूत, पेट्रोल, धातु के सामान, कोयला इत्यादि वस्तुओं का आयात होता है.

कोलकाता बंदरगाह
यह पश्चिम बंगाल में हुगली नदी के किनारे स्थित कृत्रिम बंदरगाह है. यह पूर्वी तट का सबसे बड़ा तथा भारत का दूसरा बड़ा बंदरगाह है. कोलकाता जी टी रोड के एक छोर पर स्थित है एवं यहाँ दक्षिण पूर्वी रेलवे का मुख्यालय है जिससे यह देश के विभिन्न भागों से जुड़ा हुआ है. इस बंदरगाह से निर्यात की जाने वाली वस्तुओं में जूट एवं उसके उत्पाद, चाय, चीनी, लौहा, अभ्रक, मशीनें, इंजीनियरिंग सामान इत्यादि हैं. यहाँ से सूत, कपास, रासायनिक पदार्थ, उर्वरक,पेट्रोल,रबर  इत्यादि आयात किया जाता है.
कोलकाता बंदरगाह के दक्षिण में हल्दिया बंदरगाह को विकसित किया गया है .

जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह
यह अरब सागर तट पर मुंबई के दक्षिण में स्थित एक प्रमुख बंदरगाह है. इसका निर्माण मुंबई बंदरगाह के यातायात के दबाव को कम करने के लिये किया गया है और मुख्य रूप से यहाँ मालवाहक जहाजों का आवागमन होता है. यह भारत का सबसे बड़ा कंटेनर बंदरगाह है.


विशाखापत्तनम बंदरगाह
यह बंदरगाह देश के पूर्वी तट पर आंध्र प्रदेश के महानगर विशाखापत्तनम में स्थित है. यह एक प्राकृतिक एवं गहरा बंदरगाह है. यह जहाजों का निर्माण एवं मरम्मत की जाती है. यह बंदरगाह अपने कार्यों की गुणवत्ता एवं उत्पादकता के लिए प्रसिद्ध है. इस बंदरगाह से लकड़ी, कोयला, लौहा, मछली, मैंगनीज निर्यात किया जाता है एवं पेट्रोल,रासायनिक पदार्थ, कोक, मशीनें, इस्पात, सूत  इत्यादि आयात किया जाता है.

चेन्नई बंदरगाह
भारत के तमिलनाडु राज्य में स्थित यह एक कृत्रिम बंदरगाह है. यह भारत का प्राचीन कृत्रिम बंदरगाह है. यहां से निर्यात की जाने वाली वस्तुओं में मूंगफली, तम्बाकू, नारियल, कहवा, चमड़ा आदि हैं एवं आयात किए जाने वाली वस्तुओं में पेट्रोल, रासायनिक पदार्थ, उर्वरक,इंजीनियरिंग सामान आदि प्रमुख हैं.
एन्नौर बंदरगाह को चेन्नई बंदरगाह का दबाव कम करने के लिए विकसित किया गया है.

पाराद्वीप बंदरगाह
यह भारत के पूर्वी तट के किनारे उड़ीसा राज्य में स्थित है. यह कोलकाता तथा विशाखापत्तनम बंदरगाह के लगभग बीच में स्थित प्राकृतिक संरचना का बंदरगाह है. इस बंदरगाह से उड़ीसा एवं बिहार के खनिजों का निर्यात किया जाता है तथा मशीनें,उर्वरक,गंधक, इंजीनियरिंग सामान आयत किए जाते हैं.

तूतीकोरन बंदरगाह
यह बंदरगाह तमिलनाडु राज्य के दक्षिणी छोर पर स्थित है. यहां से नमक,मछली, सीमेंट,लिग्नाइट, तम्बाकू, चावल आदि निर्यात किया जाता है एवं मशीनें,उर्वरक,सूती वस्त्र इत्यादि वस्तुओं का आयात होता है.

न्हावाशेवा बंदरगाह
यह मुंबई बंदरगाह के निकट ही स्थित है इसका निर्माण मुंबई बंदरगाह का दबाव कम करने के लिए किया गया। न्हावाशेवा बंदरगाह देश सबसे आधुनिक एवं सर्वसुविधायुक्त बंदरगाह है.

कांडला बंदरगाह
यह गुजरात राज्य की कच्छ की खाड़ी में स्थित ज्वारीय बंदरगाह है. इसके निकट के राज्यों में खनिज तेल, सीमेंट, रसायन, सूती वस्त्र इत्यादि औद्योगो का विकास होने से इसका महत्व बढ़ गया है. इस बंदरगाह से भारी मात्रा में कपास, सूती वस्त्र, उर्वरक,कच्चा तेल, पोटास, फास्फेट, नमक आदि का निर्यात किया जाता है.
Previous
Next Post »